Subject

कक्षा 10 सामाजिक विज्ञान पाठ 5 के प्रश्न उत्तर

कक्षा 10 सामाजिक विज्ञान पाठ 5 के प्रश्न उत्तर

NCERT Solutions Class 10 Social Science History Chapter 5 मुद्रण संस्कृति और आधुनिक दुनिया – जो भी विद्यार्थी कक्षा दसवीं इतिहास विषय में अच्छे अंक प्राप्त करना चाहता है या जो कक्षा 10वीं इतिहास के प्रश्न उत्तर ढूंढ रहे हैं उनके लिए आज इस पोस्ट में कक्षा दसवीं इतिहास के चैप्टर 5 के प्रश्न उत्तर दिए गए हैं .यह प्रश्न उत्तर एक सरल भाषा में बताई गए है ताकि विद्यार्थी को समझने में कोई दिक्कत ना आए .तो नीचे आपको कक्षा 10 इतिहास पाठ 5 मुद्रण संस्कृति और आधुनिक दुनिया के प्रश्न उत्तर दिए गए हैं इन्हें आप अच्छे से पड़े और अपनी परीक्षा की तैयारी अच्छे से करें .इसके अलावा भी हमारी वेबसाइट पर कक्षा दसवीं के सभी विषय केचैप्टर के प्रश्न उत्तर दिए गए हैं.

कक्षा 10 इतिहास अध्याय 5 मुद्रण संस्कृति और आधुनिक दुनिया के प्रश्न उत्तर

प्रश्न 1. किन देशों ने पहली बार मुद्रा प्रणाली बनाई?
उत्तर- चीन, जापान और कोरिया ने मुद्रण की पहली तकनीक बनाई।

प्रश्न 2. खुशनवीसी शब्द का अर्थ क्या था?
उत्तर- हाथ से सुंदर-सुडौल अक्षरों में सुंदर लिखाई को खुशनवीसी कहते थे।

प्रश्न 3. ‘केसरी’ नामक पत्रिका को किसने प्रकाशित किया?
उत्तर: बाल गंगाधर तिलक ने “केसरी” नामक पत्रिका का प्रकाशन किया था।

प्रश्न 4. वुडब्लॉक प्रिंटिंग का उपयोग चीन में कब शुरू हुआ?
उत्तर लगभग 594 ई।

प्रश्न 5. जापान में छापेखाने का प्रवेश कब हुआ?
उत्तर: 768-770 ई० के आसपास, चीनी बौद्ध प्रचारक जापान में छापेखाने की तकनीक लाए।

प्रश्न 6. जापान में प्रकाशित सबसे पुरानी पुस्तक कौन-सी है और यह कब प्रकाशित हुई?
उत्तर- डायमंड सूत्र जापान की सबसे पुरानी पुस्तक है। यह 868 में छपा था।

प्रश्न सात चीन की प्रारंभिक मुद्रण कला के दो लक्षण बताइए।
उत्तर-(1) चीन में लगभग 594 ई० से किताबें स्याही लगे काठ के ब्लॉक या तख्ती पर छापी जाती थीं।
(2) पतले, छिद्रित कागज के दोनों तरफ छपाई करना असंभव था, इसलिए पारंपरिक चीनी किताबों को किनारों को मोड़कर बनाया जाता था।

प्रश्न 8. सत्रहवीं शताब्दी में चीनी मुद्रण कला में क्या बदलाव हुआ?
उत्तर-सत्रहवीं सदी से पहले, केवल विद्वान और अधिकारी ही मुद्रित सामग्री का उपभोग करते थे, लेकिन सत्रहवीं सदी में व्यापारी भी मुद्रित सामग्री का प्रयोग करने लगे. उनके दैनिक कामों की जानकारी लेने के लिए यह प्रयोग करने लगे।

प्रश्न 9. जापान में मुद्रण कला की शुरुआत के बारे में आपकी जानकारी क्या है?
उत्तर: 768-770 ई० के आसपास, चीनी बौद्ध प्रचारक जापान में छपाई की तकनीक लाए। 868 ई० में छपी डायमंड सूत्र, जापान की सबसे पुरानी पुस्तक है, जिसमें पाठ और काठ पर खुदे चित्र हैं।

10. प्रश्न: मार्को पोलो कौन था? वह कहाँ रहता था?
उत्तर- मार्को पोलो 1295 ई. में चीन में लंबे समय तक रहने के बाद इटली गया और मुद्रण कला को विकसित किया।

प्रश्न 11. गुटेन्बर्ग का व्यक्तित्व क्या था? ।
उत्तर- गुटेन्बर्ग जर्मनी का था। 1448 ई. में, उसने प्रिंटिंग प्रेस बनाया और रोमन वर्णमाला के सभी 26 वर्णों के टाइप बनाए।

प्रश्न 12. पंद्रहवीं और सोलहवीं शताब्दियों में यूरोपीय बाजारों पर कितनी मुद्रित पुस्तकें आईं?
उत्तर- पंद्रहवीं सदी में यूरोप के बाजारों में दो करोड़ मुद्रित पुस्तकें आईं, लेकिन सोलहवीं सदी में यह 20 करोड़ हो गया।

प्रश्न 13: कितागावा उतामारो का नाम क्या था?
उत्तर-कितागावा उतामारो 1753 में एदो में जन्मे थे, और उन्होंने उकियो (तैरती दुनिया के चित्र) नामक एक नई कला शैली में महत्वपूर्ण योगदान दिया, जो आम शहरी जीवन को चित्रित करती थी।

प्रश्न 14. मार्टिन लूथर के लेखों पर उनके विचार क्या थे?
उत्तर-(1) वे पुस्तकों को ईश्वर की सबसे बड़ी देन समझते थे।
(2) वे मानते थे कि पुस्तकों के माध्यम से धर्म सुधार के अभियान चलाए जा सकते हैं।

15. प्रश्न: इरैस्मस कौन थे? पुस्तकों पर उनकी क्या राय थी?
उत्तर- इरैस्मस लातिन में कैथोलिक धर्म-सुधारक और विद्वान थे। वे अधिक पुस्तकों का प्रकाशन घातक समझते थे।

प्रश्न 16. “मुद्रण ईश्वर का सबसे बड़ा वरदान है।”ये शब्द किसके पास हैं?
उत्तर- मार्टिन लूथर द्वारा

प्रश्न 17. क्या प्रोटेस्टेंट धर्म सुधार आंदोलन था?
उत्तर: प्रोटेस्टेंट धर्म सुधार आंदोलन ने सोलहवीं सदी के यूरोप में रोमन कैथोलिक चर्च में सुधार की कोशिश की। मार्टिन लूथर ने प्रोटेस्टेंट विचारधारा का समर्थन किया था। इस आंदोलन से कैथोलिक ईसाई धर्म के खिलाफ कई धाराएँ पैदा हुईं।

प्रश्न 18 : उन्नीसवीं सदी में प्रिंटिंग प्रेस में क्या नई खोजें हुईं? ।
उत्तर- (1) न्यूयॉर्क के रिचर्ड एम. हो ने एक शक्ति चालित बेलनाकार प्रेस बनाया, जो प्रति घंटे 8000 शीट छाप सकता है।
(2) 1800 के अंत तक ऑफसेट प्रेस आया, जिसमें एक साथ छह रंगों की छपाई की जा सकती थी।

प्रश्न 19. मुद्रकों और प्रकाशकों ने अपने उत्पादों को बेचने के लिए कौन-से विशेषताओं का उपयोग किया?
उत्तर- (1) 1920 के दशक में इंग्लैंड में एक सस्ती शृंखला में लोकप्रिय किताबें छापी गईं।
(2) उन्होंने कम लागत वाले पेपरबैक और अजिल्द संस्करण छापे, जिससे पाठकों को फायदा हुआ।

प्रश्न 20: १८वीं शताब्दी में जापान के शहर ‘तोक्यो’ का नाम क्या था?
उत्तर- एदो नाम से।

21. प्रश्न: मार्को पोलो कौन था?

उत्तर-मार्को पोलो 1295 में चीन में कई वर्षों की खोज करने के बाद इटली लौटा।

प्रश्न 20: वेलम का नाम क्या था?
उत्तर- वेलम एक चर्म-पत्र या जानवरों के चमड़े से बनी लेखन की सतह है।

प्रश्न 23: गुटेन्बर्ग पत्रिका में पहली बार प्रकाशित किताब कौन-सी थी?
उत्तर- बाइबिल

प्रश्न 24. गाथा गीत कहा जाता है किसे?
उत्तर- गाथा गीत, लोक गीत का ऐतिहासिक कहानी जिसे गाया या सुनाया जाता है, कहलाता है।

प्रश्न 25: इक्वीज़ीशन का उद्देश्य क्या था?
उत्तर- इक्वीज़ीशन यूरोप में एक रोमन कैथोलिक संस्था थी जो विद्यार्थियों की शिनाख्त और सजा करती थी।

प्रश्न 26. किस वर्ष से इक्वीज़ीशन ने प्रतिबंधित पुस्तकों की सूची प्रकाशित करना शुरू किया?
उत्तर 1558 से

प्रश्न 27. छापेखाने से पहले भारत में पुस्तकों का उत्पादन कैसे हुआ?
उत्तर- छापेखाने के आविष्कार से पहले भारत में पुस्तकें पांडुलिपियों के रूप में होती थीं, जिन्हें ताड़ के पत्तों पर नकल करके बनाया जाता था या हाथ से बने कागज पर।

प्रश्न 28. पांडुलिपियों के दो गुण बताएँ।
उत्तर- (1) पांडुलिपियाँ महंगी और बहुत नाजुक थीं।
(2) लिपियों के अलग-अलग लिखने के कारण उन्हें पढ़ना मुश्किल था।

प्रश्न 29. भारत में पहली प्रिंटिंग प्रेस कब स्थापित की गई थी और किसने इसे बनाया था?
उत्तर- सोलहवीं सदी में पुर्तगाली धर्म-प्रचारकों ने गोवा में प्रिंटिग प्रेस की स्थापना की।

प्रश्न 30. बंगाल गजट को कब और किसने प्रकाशित किया?
उत्तर- 1780 ई. में जेम्स ऑगस्टस हिक्की ने उत्तर-बंगाल गजट प्रकाशित किया था।

प्रश्न 31. संवाद कौमुदी को कब और किसने प्रकाशित किया?
उत्तर- 1821 में राजा राममोहन राय ने संवाद कौमुदी का प्रकाशन किया था।

प्रश्न 32. राजा रवि वर्मा का व्यक्तित्व क्या था?
उत्तर- भारत में राजा रवि वर्मा एक प्रसिद्ध चित्रकार थे।

प्रश्न 33. गुलामगिरी का लेखन कब किया गया और किसने लिखा?
उत्तर- ज्योतिबा फुले ने 1871 में ‘निम्न-जातीय’ आंदोलनों की पुस्तक गुलामगिरी लिखी।

प्रश्न 34. गुलामगिरी पुस्तक का क्या विषय था?
उत्तर-गुलामगिरी पुस्तक में जाति-प्रथा के अत्याचार का विषय था।

प्रश्न 35. वर्नाक्यूलर प्रेस एक्ट को लागू करने का समय और उद्देश्य क्या था?
उत्तर 1878 में, वर्नाक्यूलर प्रेस एक्ट ने देशी साहित्य पर प्रतिबंध लगाया था।

प्रश्न 36. एडेजेज को बनाया गया कब और किसने?
उत्तर इरैस्मस ने 1508 में एडेजेज बनाया।

प्रश्न 37: किताबें भिनभिनाती मक्खियों की तरह हैं, दुनिया का कौन-सा कोना जहाँ वे नहीं पहुँच सकते?ये शब्द किसने निकाले?
उत्तर-लातिन के कैथोलिक धर्म-सुधारक इरैस्मस ने

प्रश्न 38. निरंकुशवाद की व्याख्या क्या है?
उत्तर-राजकाज की ऐसी व्यवस्था जिसमें किसी व्यक्ति को पूरी तरह से स्वतंत्रता मिलती है और कोई कानून या संविधान इसे नियंत्रित नहीं करता है

प्रश्न 39. चैपबुक या गुटका का क्या अर्थ था?
उत्तर-चैपबुक शब्द पॉकेट बुक के आकार की किताबों को बताता था। उन्हें अक्सर फेरीवाले बेचते थे। सोलहवीं शताब्दी की मुद्रण क्रांति से पहले ये बहुत लोकप्रिय थे।

प्रश्न 40: पहली मुद्रित प्रति ‘रामचरितमानस’ कब और कहाँ प्रकाशित हुई?
उत्तर 1810 में कलकत्ता में

प्रश्न 41. किस वर्ष ‘जाम ए जहाँनामा’ और ‘शम्सुल’ प्रकाशित हुए?
उत्तर-1882 में

प्रश्न 42. क्या प्रोटेस्टेंट धर्म सुधार आंदोलन था?
उत्तर: सोलहवीं सदी में यूरोप के कैथोलिक चर्चों में कई कुरीतियाँ फैलीं। धर्म सुधारक मार्टिन लूथर ने प्रोटेस्टेंट धर्म सुधार आंदोलन की शुरुआत की, जो इन बुराइयों को दूर करने का प्रयास था। मार्टिन लूथर ने अपनी पिच्चानवें स्थापनाएँ, या निर्देशिकाएँ, लिखीं, जिसमें उन्होंने कैथोलिक चर्च की गलतियों की आलोचना की। लूथर ने इन स्थापनाओं में चर्च को धार्मिक विवाद करने की चुनौती दी थी।

प्रश्न 43. भारत में दृश्य-संस्कृति कैसे विकसित हुई? .
उत्तर उन्नीसवीं शताब्दी के आखिर तक विकसित हुई एक नई दृश्य-संस्कृति। अब छापेखानों की बढ़ती संख्या के साथ बहुत सी छवियों की नकलें या प्रतियाँ बनाना बहुत आसान था। राजा रवि वर्मा जैसे चित्रकारों ने सार्वजनिक उपयोग के लिए चित्र बनाए। लैटरप्रेस छापेखानों के पास काठ की तख्ती पर चित्र उकेरने वाले गरीब दस्तकारों को मुद्रकों से काम मिलने लगा। गरीब लोग भी सस्ती तस्वीरें और कैलेंडर खरीदकर अपने घरों और कार्यालयों को सजाया करते थे। धीरे-धीरे इन छपी तस्वीरों ने आधुनिकता और परंपरा, धर्म और राजनीति, समाज और संस्कृति के आम विचारों को गढ़ना शुरू कर दिया।

प्रश्न 44. भारत में प्रिंटिंग प्रेस के आविष्कार से पहले सूचना और विचार कैसे लिखे जाते थे?
उत्तर है भारत में संस्कृत, अरबी, फारसी और अन्य क्षेत्रीय भाषाओं में लिखित पांडुलिपियों की पुरानी और समृद्ध परंपरा थी। ताड़ के पत्ते या हाथ से बने कागज पर नकल करके पांडुलिपियाँ बनाई जाती थीं। अक्सर, पन्नों पर उत्कृष्ट चित्र भी होते थे। फिर उम्र बढ़ाने के उद्देश्य से उन्हें तख्तियों की जिल्द में या सिलकर बाँध दिया जाता था। उन्नीसवीं शताब्दी के आखिर तक, छपाई के आगमन के बाद भी पांडुलिपियाँ छापी जाती रहीं।

प्रश्न 45: उन्नीसवीं सदी में भारत में गरीब लोगों पर मुद्रण संस्कृति का क्या प्रभाव पड़ा?
उत्तर: उन्नीसवीं सदी में मद्रासी शहरों में किताबें बहुत सस्ती थीं, इसलिए गरीब लोग भी बाजार से किताबें खरीद सकते थे। बीसवीं सदी के शुरू से सार्वजनिक पुस्तकालयों के खुलने से किताबों की पहुँच काफी बढ़ गई। शहरों, कस्बों या कभी-कभी संपन्न गाँवों में ये पुस्तकालय होते थे। स्थानीय अमीरों के लिए पुस्तकालय खोलना सम्मान की बात थी। बंगलौर के सूती-मिल कर्मचारियों ने बंबई के मिल-कर्मचारियों से प्रेरणा लेकर स्वयं को शिक्षित करने के विचार से पुस्तकालय बनाए। इन प्रयासों को समाज सुधारकों ने बचाया। उनका मूल लक्ष्य था कि कर्मचारियों में नशाखोरी कम हो, उनकी साक्षरता बढ़े और राष्ट्रवाद का संदेश हर संभव प्रसारित किया जाए।

इस पोस्ट में History Class 10 Chapter 5 question Answer PDF Class 10 History Chapter 5 Notes कक्षा 10 इतिहास अध्याय 5 प्रश्न उत्तर मुद्रण संस्कृति और आधुनिक दुनिया के प्रश्न उत्तर कक्षा 10 इतिहास अध्याय 5 नोट्स कक्षा 10 सामाजिक विज्ञान पाठ 5 प्रश्न उत्तर मुद्रण संस्कृति और आधुनिक दुनिया से संबंधित महत्वपूर्ण प्रश्न दिए गए हैं यदि आपको यह प्रश्न उत्तर सही लगे तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करें. अगर इन प्रश्न उत्तरों के बारे में आपके कोई भी सवाल या जवाब है, तो कृपया नीचे कमेंट करके पूछें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button