Subject

NCERT Solutions for Class 6 Science Chapter 14 जल

NCERT Solutions for Class 6 Science Chapter 14 जल

NCERT Solutions for Class 6th Science Chapter 14. जल – हर विद्यार्थी चाहता है कि अपनी कक्षा में अच्छे अंक प्राप्त करें ताकि उन्हें नौकरी या एडमिशन के लिए फॉर्म भरने में आसानी हो। यहां पर NCERT कक्षा छठी का विज्ञान अध्याय 14 (जल) का हल सरल भाषा में बताया गया है। क्योंकि विद्यार्थी अक्सर किताब नहीं समझते।यहाँ NCERT Solutions for Class 6th Chapter 14 Water आसन भाषा में दिया गया है।ताकि विद्यार्थी को पढ़ने में कोई परेशानी न हो। इसकी मदद से आप परीक्षा में अच्छे अंक पा सकते हैं। यही कारण है कि Ch 14 जल प्रश्नोत्तरों को ध्यान से पढ़ें; यह आपके लिए उपयोगी होगा।

अभ्यास के प्रश्नों के उत्तर

प्रश्न 1. नीचे दिए गए रिक्त स्थानों की पूर्ति कीजिए:

(क) जल को वाष्प में परिवर्तित करने के प्रक्रम को …………… कहते हैं।
(ख) जलवाष्प को जल में परिवर्तित करने के प्रक्रम को …………… कहते हैं।
(ग) एक वर्ष या इससे अधिक समय तक वर्षा न होना उस क्षेत्र में …………. लाता है।
(घ) अत्यधिक वर्षा से …………… आती है।

उत्तर- (क) वाष्पन (ख) संघनन (ग) सूखा (घ) बाढ़।

प्रश्न 2. क्या नीचे लिखे में से किसी का यह वाष्पन या संघनन है?

(क) ठंडे जल से भरे गिलास की बाहरी सतह पर जल की बूंदों को देखना
(ख) गीले कपड़ों को इस्त्री करते समय भाप उठाना
(ग) सर्दियों में सुबह कोहरे का प्रकट होना
(घ) श्यामपट्ट गीले कपड़े से पोंछने पर कुछ समय सूख जाता है।
(ङ) गर्म छड़ पर जल डालकर भाप उठाना

उत्तर- (क) संघनन, (ख) वाष्पन, (ग) संघनन, (घ) वाष्पन, (ङ) वाष्पन।

प्रश्न 3. निम्नलिखित कथनों में से कौन-सा सही है?

(क) मानसून के दौरान ही वायु में जलवाष्प होता है।
(ख) जल भूमि से वाष्पित नहीं होता, लेकिन महासागरों, नदियों और झीलों से वाष्पित होकर वायु में मिलता है।
(ग) वाष्पन जलवाष्प में परिवर्तन की प्रक्रिया है।
(घ) सूर्य की रोशनी ही जल को वाष्पित करती है।
(ङ) जलवाष्प संघनित होकर छोटी-छोटी जलकणिकाओं को वायु की ऊपरी परतों में बनाता है, जहाँ यह और अधिक ठंडा होता है।  

उत्तर- केवल (ग) और (ङ)

प्रश्न 4. वर्षा वाले दिन आप स्कूल की ड्रेस को जल्दी सुखाना चाहते हैं। क्या इसे किसी अँगीठी या हीटर पर फैलाना इस काम में सही होगा? अगर ऐसा है, तो कैसे?

उत्तर- हाँ, कपड़े को अँगीठी या हीटर के पास फैलाकर जल्दी सुखा सकते हैं। क्योंकि अंगठी या हीटर की ऊष्मा से यूनिफार्म में उपस्थित जल वाष्पित हो जाएगा, जो वाष्प बनकर उड़ जाएगा और यूनिफार्म सूख जाएगा।

प्रश्न 5. एक ठंडी पानी की बोतल रेफ्रिजरेटर से निकालकर मेज़ पर रखें। कुछ समय बाद, आप आसपास जल की गड्डमड्ड बूंदें देखेंगे। क्या वजह है?

उत्तर: ठंडी जल की बोतल की बाहरी सतह ठंडी होगी क्योंकि वायु में जलवाष्प होगा। जल की ठंडी बोतल को फ्रिज से निकालकर बाहर रखने पर, बोतल की बाहरी सतह पर जल की बूंदें दिखाई देंगी।

प्रश्न 6. जब लोग चश्मों के लेंस को साफ करने के लिए फेंकते हैं, तो लेंस भीग जाते हैं। लेंस भीग क्यों जाते हैं? सोचिए।

उत्तर- जब हम लेंस को साफ करने के लिए उस पर फूक मारते हैं, तो फैंक में वायु के साथ जल भी निकलता है, जो शीशे के संपर्क में आते ही पानी की बूंदों में बदल जाता है, जिससे लेंस भीग जाता है।

प्रश्न 7. बादल का निर्माण कैसे होता है?

उत्तर-  बादल बनना—समुद्रों और महासागरों की सतह से वाष्पित जल जब वाष्प वायु के साथ ऊपर जाते हैं, तो वायु इतनी ठंडी हो जाती है कि इसमें उपस्थित जलवाष्प संघनित हो जाता है: छोटे-छोटे जल कणों में बदल जाते हैं। बादल वायु में तैरते हुए ये छोटी जल कणिकाएं लगती हैं।

प्रश्न 8. सूखा कब शुरू होता है?

उत्तर: ठंडा जब किसी स्थान पर एक वर्ष से अधिक समय तक वर्षा नहीं होती है तो सूख जाता है। जल की कमी से जमीन बंजर हो जाती है और पौधे सूख जाते हैं।

जल के प्रश्नों के उत्तर

प्रश्न 1. जल प्रकृति में कैसे मिलता है?
उत्तर: पानी का लगभग तीन-चौथाई भाग पृथ्वी का है। जल बर्फ के रूप में पर्वतों और ऊंचाई के क्षेत्रों पर, समुद्र और पृथ्वी के नीचे और वायुमंडल में जलवाष्प, कोहरा और बादल के रूप में बहुतायत में उपस्थित रहता है। वनस्पति और पशु-जगत दोनों को जल चाहिए। क्रिस्टल जल भी कई चट्टानों और खनिजों में होता है। हमारे शरीर में जल का लगभग 70% हिस्सा है।

प्रश्न 2. पीने योग्य जल क्या है? पीने योग्य जल में घुले हुए कौन-से लवण हैं?
उत्तर- पेयजल – पीने योग्य जल है। प्रति लीटर पेयजल में 1-2 ग्राम घुले हुए लवण होते हैं। साधारण नमक इन लवणों का मुख्य घटक है। इसमें जिंक, मैग्नीशियम और कैल्सियम के लवण भी घुले हुए हैं।

प्रश्न 3. समुद्री जल के खारेपन का क्या कारण है?
उत्तर- लवणों की अधिक मात्रा समुद्री जल को खारा बनाती है। लगभग २.५% साधारण नमक है।

प्रश्न 4.पीने योग्य जल में घुले हुए लवणों से क्या फायदे होते हैं?
उत्तर: पीने योग्य जल में घुले हुए लवण जल को स्वादिष्ट बनाने में भी सहायक होते हैं।

प्रश्न. पृथ्वी का कितने प्रतिशत हिस्सा जल से घिरा हुआ है?
उत्तर: पृथ्वी की सतह का लगभग तीन चौथाई (सात प्रतिशत) जल है, लेकिन अधिकांश खारा है, समुद्रों और सागरों के रूप में। नदियों, नालों और भूमिगत जल से पृथ्वी पर उपलब्ध जल का मात्र 3% स्वच्छ है।

प्रश्न 5.पृथ्वी पर चलने वाले जल चक्र का वर्णन करें।
उत्तर- पृथ्वी का लगभग तीन चौथाई भाग जल से घिरा हुआ है। नदियों, तालाबों और समुद्रों का जल वाष्पित होकर वायु में मिलता रहता है। ये जलवाष्प वायु में उपस्थित सूक्ष्म धूलकणों के आसपास मिलकर बूंदे बनाते हैं। बादल इन बूंदों का समूह है। ये बादल वर्षा की तरह जमीन पर गिरते हैं। भूमिगत जल, एक कठोर चट्टान के ऊपर एकत्रित वर्षा जल है। पौधे वर्षा जल का कुछ हिस्सा absorb करते हैं, जबकि दूसरा हिस्सा वाष्प बनकर वायुमंडल में फिर से प्रवेश करता है। कभी-कभी वर्षा का जल नदी बन जाता है। ये नदियां समुद्र में फिर से गिरती हैं। जहां ताप बहुत कम होता है, वहां जल बर्फ बन जाता है। जल का यह चक्र निरंतर चलता रहता है।

प्रश्न 6. जल-चक्र क्या है?
उत्तर- प्रकृति में जल का संतुलन बनाए रखने में जल-चक्र सहायक है। यह चक्र एक बहुत महत्वपूर्ण प्रक्रिया है जो जीवन को धरती पर बनाए रखती है। जल-चक्र भू-मंडलीय ऊष्मा को भी कम करता है, क्योंकि यह वायुमंडल से ऊष्मा अवशोषित करता है। यही ऊष्मा लंबे समय तक जलवायु को बनाए रखती है।

प्रश्न 7. जल-चक्र में वृक्षों की क्या भूमिका है?
उत्तर- वृक्ष अपने द्वारा अवशोषित जल को वाष्प बनाकर वायुमंडल में छोड़ते रहते हैं। वर्षा के जल को वृक्ष पुनः अवशोषित करने वाले वाष्प बादल बनते हैं। इसलिए वृक्ष जल-चक्र का एक महत्वपूर्ण हिस्सा हैं।

प्रश्न 8. गीले कपड़े सूखने का क्या तरीका है?
उत्तर- सूखे कपड़े पानी को अवशोषित करते हैं। यदि गीले कपड़े सुखाना हो तो खुली हवा में डाल दें। गीले कपड़ों से जल निकलता है और कपड़े सूख जाते हैं। तेज धूप (गर्मी) में कपड़े जल्दी सूखते हैं।

प्रश्न 9. समुद्री जल से नमक कैसे मिलता है?
उत्तर- समुद्री जल और कुछ झीलों में नमक होता है। बड़ी-बड़ी क्यारियों में इस लवणीय जल भरकर वाष्पन क्रिया द्वारा सुखाया जाता है। क्यारियों में अभी भी नमक है।

प्रश्न 10. सूर्य की धूप में वाष्पन की क्रिया तेजी से होती है।
उत्तर: दो प्लेटें, चौड़ाई में समान होनी चाहिए, लेकर दोनों में समान मात्रा में तेल डालो। अब एक प्लेट को छत की छाया में और दूसरी को सूर्य की धूप में रख दो। 15 मिनट के लिए दोनों प्लेटों में जल की मात्रा को देखो। हम देखते हैं कि जिस प्लेट को धूप में रखा गया था, उसमें बहुत कम जल था। छाया में रखी गई प्लेट में अधिक जल है। इससे पता चलता है कि सूर्य की धूप में तेजी से वाष्पन होता है।

प्रश्न 11. पौधों में जल क्षति कैसे होती है?

उत्तर- पौधे जड़ों से जल ग्रहण करते हैं, जिसमें से कुछ भोजन बनाने में जाता है और कुछ पौधों के अलग-अलग हिस्सों में सुरक्षित रहता है। पौधे के वाष्पोत्सर्जन से जलवाष्प वायु में बाहर निकलते हैं। गेहूं का एक पौधा अपने जीवनकाल में लगभग 500 लीटर जल वाष्पीकृत करता है, एक अनुमान है।

प्रश्न 12. जल महासागरों तक कैसे पहुँचता है?
उत्तर: वर्षा जल का कुछ हिस्सा पर्वतों पर पिघल जाता है और शेष महासागरों तक बहता है। कुछ नदियों का जल झीलों में जाता है, और वर्षा और अन्य जल स्रोतों का कुछ जल जमीन से रिसता है। पानी का सबसे बड़ा स्रोत झीलें और महासागर हैं।

प्रश्न 13. वर्षा जल का विवरण दें।
उत्तर- वर्षा जलबादल वायुमंडल के जलवाष्प से बनते हैं और बादलों से जल वर्षा होती है। वर्षा जल सबसे शुद्ध है और हल्का है। इसमें रोगाणु और ठोस या लवण नहीं होते। वर्षा जल पृथ्वी तल पर पहुंचने पर प्रदूषित हो जाता है। पृथ्वी इस जल का कुछ सोख लेती है, और बाकी जल स्रोतों में एकत्र होता है।

प्रश्न 14. भौम जल-स्तर के बारे में आपका क्या विचार है? यह किस क्षेत्र में कम हो जाता है?
उत्तर- रंध्राकाश, भौम जल-स्तर-मृदा कणों के बीच एक छेद है। यह रंध्राकाश अक्सर जल और वायु से भरा होता है। लेकिन जल पूरे रंध्राकाश के नीचे है। यह गहराई भौम जल-स्तर कहलाती है।
पूरे वर्ष एक निश्चित मात्रा में वर्षा होती है। वर्षा जल का कुछ वाष्पित हो जाता है, कुछ नदी, नाला या झील में बहता है, और कुछ भूमि से रिसकर नीचे गिरता है। भूमि से रिसकर अंदर जाने वाला भौम जल-स्तर ही पौधों के लिए उपलब्ध रहता है। भौम जल स्तर नीचे जा रहा है क्योंकि भूमिगत जल लगातार ट्यूबवैलों, कुओं और हैंड पंपों से निकाला जाता है; वैसे भी, गर्मियों में भौम जल स्तर नीचे जाता है और सर्दियों में ऊपर जाता है। यह पेड़ लगाकर बढ़ाया जा सकता है।

प्रश्न 15. जमीन पर गिरा हुआ वर्षा जल कहां बहता है?
उत्तर- भूमि पर गिरे वर्षा जल के कुछ हिस्से को जमीन सोख लेती है, कुछ नदियों में बह जाता है, और कुछ वाष्पित होकर वायु में वापस चला जाता है।

प्रश्न 16. पृथ्वी के नीचे जलस्तर में गिरावट के लिए क्या कारक जिम्मेदार हैं? इसे दूर कैसे कर सकते हैं?
उत्तर- नलकूपों और हैंडपंपों द्वारा पृथ्वी के नीचे से जल निकालने और उसका उपयोग करने से जलस्तर कम होता जा रहा है। हमें इसे कम होने से बचाने के लिए इसका कम से कम उपयोग करना चाहिए और वर्षा जल के अंतः स्रवण को सही ढंग से नियंत्रित करना चाहिए।

प्रश्न 17. वर्षा की वृद्धि में हमारी मदद कैसे हो सकती है?
उत्तर- ज्यादा पेड़ लगाकर वर्षा को बढ़ा सकते हैं क्योंकि पेड़ जड़ों द्वारा जल अवशोषित कर वायुमंडल में वाष्प बनाकर छोड़ देते हैं, जिससे वायुमंडल में अधिक जलवाष्प बनकर बादल बनते हैं। पेड़-पौधे भी वायुमंडल में ठंडक बनाते हैं, जो वर्षा के लिए जरूरी है। इसलिए हम अधिक पेड़ लगाकर वर्षा को बढ़ा सकते हैं।

प्रश्न 18. भारी वर्षा क्या करती है?
उत्तर- वर्षा  वैसे राहत प्रदान करती है, लेकिन भारी वर्षा से नदियों, झीलों और तालाबों में जलस्तर बढ़ता है, जिससे भूमि जलमग्न हो जाती है। बाढ़ों से फसलें, पालतू जानवर, संपदा और लोगों का जीवन प्रभावित होता है। बाढ़ भी जलीय जीवों को मार डालता है।

प्रश्न 19. वर्षा जल को कैसे जमा किया जाता है?
उत्तर- वर्षा जल का एक बड़ा स्रोत है, और पृथ्वी भी वर्षा से कुछ सोख लेती है। शेष जलवाष्प व्यर्थ चला जाता है। बड़े-बड़े भवनों की छतों पर और खुले पक्के फर्श वाले क्षेत्रों में वर्षा जल को एकत्रित करके बड़े-बड़े टैकों में डाला जाता है। यह जल पीने, घरेलू कार्यों और बाग-बगीचों की सिंचाई के लिए उपयोग किया जा सकता है।

प्रश्न 20. इतनी बड़ी मात्रा में जल उपलब्ध होने के बावजूद, जल संकट का खतरा क्यों नहीं माना जाता?
उत्तर- प्रकृति में जल के व्यापक स्रोत हैं, लेकिन इसमें से 97% समुद्री जल है, जो उपयोग के योग्य नहीं है। 3% के लगभग ताजा जल में से 1.97% बर्फ, 0.001% जलवाष्प और 0.24%/भूमिगत जल हैं। सतही जल-स्रोतों में केवल 0.02% जल है, जिसमें से अधिकांश जल भी अशुद्ध होने के कारण उपयोग के योग्य नहीं रहता। असुरक्षित स्रोतों से प्राप्त जल भी कसौटी पर खरा नहीं उतरता। यही कारण है कि इतनी बड़ी मात्रा में जल उपलब्ध होने के बावजूद भी जल एकत्र करने के लिए लंबी कतार की बहुत अधिक संभावना है।

इस पोस्ट में आप ncert class 6 science chapter 14 questions and answers class 6 science chapter 14 water pdf Class 6th science chapter 14 notes class 6 science chapter 14 water notes pdf एनसीईआरटी समाधान कक्षा 6 विज्ञान अध्याय 14 जल प्रश्न उत्तर पीडीएफ़ कक्षा 6 अध्याय 14 विज्ञान जल नोट्स से संबंधित पूरी जानकारी दी गई है यदि आपको इसके बारे में कोई प्रश्न या सुझाव है, तो कृपया नीचे कमेंट करके हमसे संपर्क करें. इसके अलावा, अगर आपको यह जानकारी उपयोगी लगे तो इसे अपने दोस्तों से भी साझा करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button