Subject

NCERT Solutions for Class 6th Science Chapter 13. चुंबकों द्वारा मनोरंजन

NCERT Solutions for Class 6th Science Chapter 13. चुंबकों द्वारा मनोरंजन

NCERT Solutions for Class 6th Science Chapter 13. चुंबकों द्वारा मनोरंजन –  जो विद्यार्थी छठी कक्षा में हैं वे हर साल छठवीं की परीक्षा देते है, लेकिन कई विद्यार्थी अच्छे अंक नहीं प्राप्त कर पाते, जिससे उन्हें आगे एडमिशन लेना भी मुश्किल होता है।यहां NCERT कक्षा 6 का विज्ञान अध्याय 13 (चुंबकों द्वारा मनोरंजन) विद्यार्थियों के लिए दिया गया है। NCERT Solutions for Class 6th Chapter 13 Fun With Magnets आसन भाषा में है। ताकि विद्यार्थी को पढ़ने में कोई परेशानी न हो। इसकी मदद से आप परीक्षा में अच्छे अंक पा सकते हैं।इसलिए, Ch 13 चुंबकों द्वारा मनोरंजन प्रश्नोत्तर को ठीक से पढ़ें।

अभ्यास के प्रश्नों के उत्तर

प्रश्न 1. रिक्त स्थानों की पूर्ति कीजिए :
(क) कृत्रिम चुंबक विभिन्न आकार के बनाए जाते हैं जैसे ………., ………….. तथा ……………
(ख) जो पदार्थ चुंबक की ओर आकर्षित होते हैं वे ……………. कहलाते हैं।
(ग) कागज़ एक ……………….. पदार्थ नहीं है।
(घ) प्राचीन काल में लोग दिशा ज्ञात करने के लिए ……………… का टुकड़ा लटकाते थे।
(ङ) चुंबक के सदैव . ……………. ध्रुव होते हैं।

उत्तर– (क) छड़, नाल, बेलनाकार
(ख) चुंबकीय पदार्थ
(ग) चुंबकीय
(घ) प्राकृतिक चुंबक (लोड स्टोन)
(ङ) दो।

प्रश्न 2. निम्नलिखित कथनों को सही या गलत बताइए:

(क) बेलनाकार चुंबक में एकमात्र ध्रुव है।
(ख) यूनान ने कृत्रिम चुंबक का आविष्कार किया था।
(ग) ध्रुव एक-दूसरे को आकर्षित करते हैं, जैसे चुंबक।
(घ) लोहे का बुरादा छड़ चुंबक के मध्य में अधिक चिपकता हैङ) छड़ चुंबक हर समय उत्तर-दक्षिण दिशा में दिखाई देता है।
(च) किसी जगह कंपास का उपयोग करके पूर्व-पश्चिम दिशा का पता लगाया जा सकता है।
(छ) रबड़ चुंबकीय है。

उत्तर: (क) गलत, (ख) गलत, (ग) गलत, (घ) गलत, (ङ) सही, (च) सही, (छ) गलत

प्रश्न 3. यह देखा गया है कि पेंसिल छीलक या शार्पनर, भले ही प्लास्टिक का हो, चुंबक के दोनों ध्रुवों से चिपक जाता है। उस सामग्री का नाम बताइए जिसका इसके किसी हिस्से को बनाने में उपयोग किया जाता है?

उत्तर. शार्पनर का ब्लेड चुंबकीय लोहे से बना है। इसलिए शार्पनर दोनों चुंबक ध्रुवों से चिपक जाता है।

प्रश्न 4.कॉलम 1 में एक चुंबक के ध्रुव को दूसरे चुंबक के ध्रुव के करीब लाने की विभिन्न स्थितियाँ दिखाई दी हैं। प्रत्येक स्थिति के परिणाम कॉलम 2 में दिखाए गए हैं। अतिरिक्त स्थानों को भरें:

कॉलम 1 कॉलम 2
N – N …………….
N -………… आकर्षण
v …………….
……. – S प्रतिकर्षण

उत्तर – 

कॉलम 1 कॉलम 2
N – N प्रतिकर्षण
N – S आकर्षण
S – N आकर्षण
S – S प्रतिकर्षण

प्रश्न 5. चुंबक के कुछ गुणों का विवरण दें।

उत्तर: चुंबक की विशेषताएं

(i) स्वतंत्र लटकाने पर चुंबक उत्तर-दक्षिण दिशा में ठहरता है।
(ii) चुंबक में दो ध्रुव हैं: उत्तरी और दक्षिणी।

प्रश्न 6: छड़ चुंबक के ध्रुव कहाँ हैं?

उत्तर:  इसके सिरों पर छड़ चुंबक के ध्रुव हैं।

प्रश्न 7.धुवों की पहचान का कोई संकेत छड़ चुंबक पर नहीं है। कैसे पता करोगे कि किस सिरे के निकट उत्तरी ध्रुव स्थित है?

उत्तर: चुंबक के ध्रुवों की पहचान करने के लिए एक छड़ चुंबक लीजिए जिसके ध्रुव अंकित हैं। इस छड़ चुंबक को धागे से बांधकर एक लकड़ी के स्टैंड पर लटकाओ। अब लटकती छड़ चुंबक के उत्तरी ध्रुव के पास एक सिरा लेकर जाओ, जिसके ध्रुवों को पहचानना होगा। लटकती छड़ चुंबक का यह उत्तरी ध्रुव है अगर वह प्रतिकर्षित होती है। लटकती छड़ को चुंबक आकर्षित करने पर यह दक्षिणी ध्रुव होगा, जबकि दूसरा सिरा उत्तरी ध्रुव होगा।

प्रश्न 8. क्या आप लोहे की पत्ती प्राप्त कर चुके हैं? यह चुंबक कैसे बनेगा?

उत्तर: लोहे की पत्ती से चुंबक बनाने की प्रक्रिया—लोहे की पत्ती को मेज पर रखें। अब लोहे की छड़ के एक सिरे पर एक छड़ चुंबक का एक ध्रुव रखें। चुंबक को बाहर निकालने के बजाय इसे लोहे की छड़ के दूसरे सिरे तक रगड़ते हुए ले जाइए। लोहे के टुकड़े के प्रारंभिक सिरे पर चुंबक उठाकर उसी ध्रुव को वापिस ले आइए।लोहे की छड़ के अनुदिश बार-बार चुंबक ले जाइए। इसे लगभग ३०-४० बार दोहराइए। परीक्षण कीजिए कि लोहे की छड़ चुंबक बन गई है या नहीं।

इसके लिए कोई लोहे का बुरादा या पिन इसके पास रखें। पिन छड़ की ओर आकर्षित होगा। यदि ऐसा नहीं होता, तो इसे कुछ देर तक जारी रखिए। ध्यान रखिए कि लोहे की छड़ पर चुंबक का ध्रुव रगड़ने की दिशा और दिशा दोनों नहीं बदलनी चाहिए।

प्रश्न 9. दिशा निर्धारण में कंपास का किस प्रकार इस्तेमाल किया जाता है?

उत्तर: कंपास का उपयोग करनाकंपास में दिशाओं का डायल होता है। हम कंपास को उस स्थान पर रखते हैं जहाँ हमें दिशा मिलनी चाहिए। इसकी सूई विरामावस्था में उत्तर-दक्षिण दिशा दिखाती है। कंपास को घुमाते रहना चाहिए जब तक डायल पर अंकित उत्तर-दक्षिण का चिह्न सूई के दोनों सिरों पर नहीं आता।

प्रश्न 10. पानी के टब में तैरती एक खिलौना नाव के निकट विभिन्न दिशाओं से एक चुंबक लाया गया। कॉलम 1 में प्रेक्षित प्रभाव और कॉलम 2 में संभावित कारण हैं। कॉलम 2 में दिए गए कथनों को कॉलम 1 के कथनों से तुलना कीजिए।

कॉलम 1 कॉलम 2
नाव चुंबक की ओर आकर्षित हो जाती है। नाव में चुंबक लगा है जिसका उत्तरी ध्रुव, नाव के अग्र भाग की ओर है।
नाव चुंबक से प्रभावित नहीं होती। नाव में चुंबक लगा है जिसका दक्षिणी ध्रुव, नाव के अग्र भाग की ओर है।
यदि चुंबक का उत्तरी ध्रुव नाव के अग्र भाग के समीप लाया जाता है तो नाव चुंबक के समीप आती है। नाव की लंबाई के अनुदिश एक छोटा| चुंबक लगाया गया है।
जब उत्तरी ध्रुव नाव के अग्र भाग के समीप लाया जाता है तो नाव चुंबक से दूर चली जाती है। नाव चुंबकीय पदार्थ से निर्मित है।
नाव बिना दिशा बदले तैरती है। नाव अचुंबकीय पदार्थ से निर्मित है।

उत्तर – 

कॉलम 1 कॉलम 2
नाव चुंबक की ओर आकर्षित हो जाती है। नाव चुंबकीय पदार्थ से निर्मित है।
नाव चुंबक से प्रभावित नहीं होती। नाव अचुंबकीय पदार्थ से निर्मित है।
यदि चुंबक का उत्तरी ध्रुव नाव के अग्र भाग के समीप लाया जाता है तो नाव चुंबक के समीप आती है। नाव में चुंबक लगा है जिसका दक्षिणी ध्रुव, नाव के अग्र भाग की ओर है।
जब उत्तरी ध्रुव नाव के अग्र भाग के समीप लाया जाता है तो नाव चुंबक से दूर चली जाती है। नाव में चुंबक लगा है जिसका उत्तरी ध्रुव, नाव के अग्र भाग की ओर है।
नाव बिना दिशा बदले तैरती है। नाव की लंबाई के अनुदिश एक छोटा| चुंबक लगाया गया है।

चुंबकों द्वारा मनोरंजन के प्रश्न उत्तर

प्रश्न 1. किसे चुंबक कहते हैं? लेड स्टोन का क्या अर्थ है?
उत्तर- चुंबक: चुंबकीय पदार्थों (जैसे कोबाल्ट, निकेल, लोहा आदि) को आकर्षित करने वाले पदार्थ को चुंबक कहते हैं।
लेड पत्थर:लेड स्टोन एक मैग्नेटाइट पत्थर का टुकड़ा है। स्वतंत्र रूप से लटका हुआ यह हमेशा उत्तर-दक्षिण दिशा की ओर दिखाता है। इस पत्थर को दिशा बताने वाली विशेषता से लेड स्टोन कहा जाता है। फेरोसो-फैरिक ऑक्साइड (Fe,O) इसका रासायनिक नाम है। इसे प्राकृतिक चुंबक भी कहते हैं क्योंकि यह आसानी से मिलता है।

प्रश्न 2. चुंबक की कुछ विशेषताओं का धर्म बताओ।
उत्तर- (i) चुंबक में दो ध्रुव हैं; वे दक्षिण और उत्तर हैं।
(ii) स्वतंत्र लटका हुआ यह उत्तर और दक्षिण की ओर दिखाता है।
(iii) सजातीय और विजातीय ध्रुव एक-दूसरे को आकर्षित करते हैं और प्रतिकर्षित करते हैं।
(iv) ध्रुवों को अलग नहीं कर सकते हैं।
(v) एक चुंबक कोबोल्ट, निकेल और लोहे को आकर्षित करता है।

प्रश्न 3.चुंबक के चार आम उपयोगों को लिखें।
उत्तर: चुंबक का निम्नलिखित चार आम उपयोग है:
(i) गोताखोर, पर्वतारोही और विमान चालक चुंबक का उपयोग करते हैं ताकि वे दिशा खोज सकें।
(ii) चुंबक चुंबकीय वस्तुओं को उठाने में प्रयोग होता है।
(iii) चुंबक कई उपकरणों में होते हैं, जैसे विद्युत घंटी, मीटर, माइक्रोफोन, टेलीफोन और लाऊडस्पीकर। .
(iv) इसकी सहायता से दिक्सूची यंत्र भी बनाए जाते हैं।

प्रश्न 4. चुंबकों की कितनी श्रेणियां होती हैं?
उत्तर: मुख्य रूप से दो प्रकार के चुंबक होते हैं: एक प्राकृतिक चुंबक: लेड स्टोन (मैग्नेटाइट का पत्थर)
(बी) कृत्रिम चुंबक: ये चार प्रकार के चुंबक होते हैं: छड़, चुंबक, बेलनाकार, नाल और गोलांत।

प्रश्न 5. एक चुंबकीय सूई एक लोहे की सलाई के दोनों सिरों की ओर आकर्षित होती है। क्या सलाई चुंबकीय है? वजह बताइए।
उत्तर- चुंबकीय सूई के दोनों ध्रुवों के पास लोहे की सलाई का एक सिरा बारी-बारी से ले जाओ। जब चुंबकीय सूई का एक सिरा लोहे की सलाई की ओर आकर्षित होता है और दूसरा प्रतिकर्षित होता है, तो सलाई चुंबकीय होती है। इसलिए प्रतिकर्षण ही चुंबक का वास्तविक परीक्षण है।

प्रश्न 6. रेत और लोहे के बुरादे के मिश्रण को कैसे अलग करेंगे?
उत्तर: लोहे के बुरादे और रेत के मिश्रण को चुंबक का एक सिरा में डाल दें। लोहे के बुरादे के कण छड़ चुंबक के सिरे पर चिपक जाते हैं। इन्हें अलग-अलग कागज़ पर “चुंबक से अलग करो”। इसी तरह कई बार मिश्रण से चुंबक को निकालकर पूरे लौह चूर्ण को अलग करो। शेष रेत रहेगी।

प्रश्न 7. चुंबक की सबसे अधिक शक्ति कहाँ होती है? क्या आप इसे सिद्ध करेंगे?
उत्तर. चुंबक की शक्ति सबसे कम होती है और सबसे अधिक ध्रुवों पर होती है। एक चुंबक छड़ लेकर लौह चूर्ण में घुमाओ। लौह चूर्ण मध्य में लगभग न के बराबर है और दोनों सिरों पर सबसे अधिक चिपकता है। इससे पता चलता है कि ध्रुवों, या सिरों, पर चुंबक की सबसे अधिक शक्ति होती है और मध्य में सबसे कम।

प्रश्न 8. किसी स्थान पर छड़ चुंबक की सहायता से भौगोलिक दिशाएँ कैसे पता करोगे?
उत्तर: धागे से एक छड़ चुंबक को बांधकर उसे स्वतंत्र रूप से लटकाओ। यह उत्तर-दक्षिण की ओर चला जाएगा और फिर स्थिर हो जाएगा। विभिन्न ध्रुवों का परस्पर आकर्षण इस प्रकार हमें भौगोलिक दिशाएँ पता चलेगी। इसलिए चुंबक का उत्तरी ध्रुव भौगोलिक रूप से दक्षिणी दिशा में होगा, जबकि चुंबक का दक्षिणी ध्रुव भौगोलिक रूप से उत्तरी दिशा में होगा।

प्रश्न 9. एक ही आकार के लोहे के टुकड़े और चुंबक के टुकड़े में से कैसे अंतर पता करेंगे ? आपके पास इन दोनों के अलावा कोई और वस्तु नहीं है।
उत्तर- चुंबक को लकड़ी के स्टैंड से धागा बांधकर लटकाओ। इन दोनों छड़ों के सिरों के पास एक और चुंबक का उत्तरी ध्रुव ले जाओ। जिस छड़ के दोनों सिरों को यह चुंबक आकर्षित करता है, वह छड़ लोहे की होगी। जब चुंबक छड़ के एक सिरे को आकर्षित करता है और दूसरे को प्रतिकर्षित करता है, तो छड़ चुंबक बन जाती है। इससे स्पष्ट होता है कि आकर्षण चुंबक या उसी आकार के लोहे के टुकड़े को नहीं पहचान सकता है।

प्रश्न 10. लोहे के टुकड़े स्थायी चुंबक के साथ किस प्रकार व्यवहार करते हैं?
उत्तर: एक स्थायी चुंबक लोहे के टुकड़े में सभी छोटे-छोटे चुंबकों के विजातीय ध्रुवों को आकर्षित करके उसे अस्थायी चुंबक बनाता है। दो अलग-अलग ध्रुव एक-दूसरे को आकर्षित करते हैं, जिससे इस स्थायी चुंबक के दक्षिणी ध्रुव के पास एक अस्थायी उत्तरी ध्रुव बनता है।

प्रश्न 12: चुंबकीय सूई उत्तर-दक्षिण दिशा में क्यों संकेत करती है?
उत्तर: कुछ लोग मानते हैं कि पृथ्वी एक बड़े चुंबक की तरह काम करती है जिसके ध्रुव भौगोलिक ध्रुवों से अलग हैं। इसलिए पृथ्वी के चुंबकीय दक्षिणी ध्रुव चुंबकीय सूई के उत्तरी ध्रुव की ओर आकर्षित होता है, जबकि चुंबकीय सूई का दक्षिणी ध्रुव पृथ्वी के उत्तरी ध्रुव की ओर आकर्षित होता है। इस तरह, पृथ्वी की चुंबकीय शक्ति के कारण चुंबकीय सूई सदा उत्तर-दक्षिण दिशा की ओर दिखाई देती है।

प्रश्न 13: स्थायी चुंबक और अस्थायी चुंबक क्या हैं?
उत्तर- नर्म लोहे की छड़ परअस्थायी चुंबक को एक ही दिशा में बार-बार रगड़ो। आप लोहे की छड़ में कुछ समय बाद चुंबकीय गुण देखेंगे, लेकिन ये गुण स्वयं ही नष्ट हो जाएंगे। यह प्रकार का चुंबक अस्थायी चुंबक कहलाता है।
दस-पंद्रह बार एक चुंबक से स्थायी चुंबक-इस्पात की छड़ को रगड़ो। इस्पात की छड़ में चुंबक के गुण दिखाई देंगे। इस तरह की चुंबक को स्थायी चुंबक कहा जाता है। Alnico, या इस्पात, निकेल और कोबाल्ट की मिश्रित धातु, आम तौर पर स्थायी चुंबकों का निर्माण करती है।

प्रश्न 14. चुंबक का आकर्षण सबसे अधिक कहां होता है?
उत्तर- ध्रुवों के पास।

प्रश्न 15. क्या होता है जब चुंबक को लौह चूर्ण के करीब लाते हैं?
उत्तर- चुंबक के ध्रुवों पर लौह चूर्ण चिपक जाता है।

प्रश्न 16. दो चुंबकीय पदार्थों के नाम लिखें और दो अचुंबकीय पदार्थों के नाम लिखें।
उत्तर- लोहा और निकेल चुंबकीय पदार्थ हैं।
अचुंबकीय पदार्थ: लकड़ी या प्लास्टिक

प्रश्न17. चुंबकीय ध्रुवों का अर्थ क्या है?
उत्तर- चुंबक के सबसे आकर्षक सिर को चुंबकीय ध्रुव कहते हैं।
प्रश्न 18. चुंबक के कितने ध्रुव होते हैं?
उत्तर- दो,उत्तरी और दक्षिणी ध्रुव

प्रश्न 19. स्वतंत्र चुंबक हर समय किस दिशा में आकर रुकता है?
उत्तर- उत्तर-दक्षिण दिशा में।
प्रश्न 20. रथ पर खड़ी महिला ने चीन के सम्राट हुआंग टी की ओर हाथ किस दिशा की ओर संकेत किया?
उत्तर- दक्षिण की ओर

इस पोस्ट में आपको ncert class 6 science chapter 13 question answer class 6 science chapter 13 fun with magnets question answer fun with magnets class 6 questions and answers pdf Class 6th science chapter 13 pdf कक्षा 6 विज्ञान पाठ 10 के प्रश्न उत्तर चुंबक द्वारा मनोरंजन के प्रश्न उत्तर एनसीईआरटी समाधान कक्षा 6 विज्ञान अध्याय 13 चुंबक द्वारा मनोरंजन से संबंधित पूरी जानकारी दी गई है अगर यह जानकारी आपके लिए उपयोगी लगे तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करें। आपको इसके बारे में कोई भी प्रश्न या सुझाव हो तो नीचे कमेंट करके हमें बताएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button