Subject

NCERT Solutions for Class 6th Science Chapter 8 शरीर में गति

NCERT Solutions for Class 6th Science Chapter 8 शरीर में गति

NCERT Solutions for Science Class 6th Chapter 8 शरीर में गति – Class 6th के छात्रों के लिए यहाँ पर Science विषय के अध्याय 8 का पूरा समाधान दिया गया है .जो भी Science विषय में अच्छे अंक प्राप्त करना चाहते है उन्हें यहाँ पर सभी अध्यायों का पूरा हल मिल जायेगा .यह जो  NCERT Solutions for Class 6th Science Chapter 8.Body Movements दिया गया है. रीक्षा में इसकी मदद से आप अच्छे अंक पा सकते हैं .इसलिए आप NCERT Solutions for Class 6th Science Chapter 8 शरीर में गति के प्रश्न उत्तरों को ध्यान से पढिए ,यह आपके लिए फायदेमंद होंगे.

अभ्यास के प्रश्नों के उत्तर

प्रश्न 1. रिक्त स्थानों को भरें:

(क) अस्थियों की संधियाँ शरीर को… में मदद करती हैं
(ख) उपास्थि और अस्थियाँ मिलकर शरीर का… बनाते हैं
(ग) कोहनी की अस्थियाँ… संधि से जुड़ी हैं
(घ) गतिविधि में…………… के संकुचन से अस्थियाँ खिंचती हैं।

उत्तर: (क) गति (ख) कंकाल (ग) हिंज (घ) और पेशी

प्रश्न 2: निम्नलिखित कथनों के आगे सत्य (T) और असत्य (F) बताएं।

(क) प्रत्येक जंतु की गति और चाल एकदम समान है। ()
(ख) उपास्थि अस्थि से अधिक कठोर हैं। ()
(ग) अंगुलियों की अस्थियों में समन्वय नहीं होता। ()
(घ) अग्रभाग में दो अस्थियाँ हैं। ()
(ङ) तिलचट्टों में बाय-कंकाल मिलता है। ()

उत्तर: (क) (F) (ख) (F) (ग) (F) (घ) (T) (ङ) (T).

3. निम्नलिखित प्रश्नों का उत्तर दीजिए:
(क) कंदुक-खल्लिका संधि का क्या अर्थ है?
(ख) कपाल में गतिशील अस्थि कौन-सी है?
(ग) हमारी कोहनी पीछे क्यों नहीं मुड़ सकती?

उत्तर: (क) कंदुक-खल्लिका संधि: इस संधि में एक अस्थि का सिरा गेंद की तरह गोल होता है जो दूसरी अस्थि के कटोरी रूपी गर्त में धंसा हुआ है। इस तरह की संधि सभी दिशाओं को आगे बढ़ाती है। कूल्हे की अस्थि में यह संधि होती है।

(ख) कपाल की किस अस्थि की गति होती है? वेलनाकार अस्थि की गति है।

(ग) क्योंकि हमारी कोहनी हिंज की संधि है हम घरों के दरवाजे पर हिंज लगाते हैं। यह कब्ज़ा वापस नहीं जा सकता। इसलिए हमारी कोहनी पीछे मुड़ नहीं सकती।

शरीर में गति महत्वपूर्ण प्रश्न उत्तर

1. गति किसे कहते हैं?

उत्तर: शरीर का स्थान बदलना गति कहलाता है।

प्रश्न 2. जंतु एक जगह से दूसरे जगह कैसे चले जाते हैं?

उत्तर: जंतु गमन अंगों या शरीर के किसी हिस्से से स्थानांतरित होते हैं।

प्रश्न 3. किसी भी जीव के गमन अंग (गाय, मनुष्य, पक्षी, कीट या मछली) का नाम बताओ।

उत्तर: गाय, पैर, कीट, पंख (उड़ने में सहायक)
मनुष्य: पैर वाली मछली: मिनी पंख: तैरने में मददगार
पक्षी—उड़ने में सहायक पंख

प्रश्न 4. जंतुओं के स्थानांतरित होने की प्रक्रिया इतनी विविध क्यों है?

उत्तर: प्रत्येक जंतु के गति करने वाले गमन अंग अलग-अलग हैं। इसलिए उनकी गति इतनी अलग है।

प्रश्न 5. शरीर का कौन-सा अंग पूरी तरह से घूम सकता है?

उत्तर– भुजा, टांग

प्रश्न 6. आपके शरीर के कौन-से अंग अनियमित रूप से घूमते या मुड़ते हैं?

उत्तर-गर्दन, कलाई, अंगुलियां, घुटने, सिर और कोहनी हैं।

प्रश्न 7. अस्थियों का क्या अर्थ है?

उत्तर: अस्थियाँ (Bones)—यह शरीर का कठोरतम भाग हैं जो आकार देता है। हमारे शरीर में कई अस्थियाँ हैं।

प्रश्न 8. हमारे शरीर की अलग-अलग गतियां कैसे होती हैं?

उत्तर: विभिन्न संधियां हमारे शरीर को अलग-अलग गतियां करने में मदद करती हैं।

प्रश्न 9. संधि का क्या अर्थ है?

उत्तर: शरीर के कई भाग गति करते हैं, उनकी अस्थियाँ एक विशिष्ट प्रकार के जोड़ से जुड़ी होती हैं जिसे संधि कहते हैं।

प्रश्न 10. हमारे शरीर के किन हिस्सों में संधि है?

उत्तर: दक्षिणी कोहनी, कंधा, गर्दन और घुटने लगभग समान हैं।

प्रश्न 11. हमारे शरीर में कुल कितनी संधियां हैं?

उत्तर: संधियों की श्रेणियाँकंदुक खल्लिका, धुराग्र, हिंज, अचल संधि

प्रश्न 12. कंदुक खल्लिका संधि का स्थान क्या है?

उत्तर: कुल्हे और कंधे में उत्तर-कंदुक खलिल्का संधि होती है।

प्रश्न 13. हिंज संधि का स्थान क्या है?

उत्तर: कोहनी और घुटने में हिंज संधि है।

प्रश्न 14. धुराग्र संधि का स्थान क्या है?

उत्तर: सिर और गर्दन के मध्य धुराग्र संधि

प्रश्न 15. धुराग्र संधि में एक छल्ले में कौन-सी अस्थि घूमती है?

उत्तर: धुराग्र संधि में एक छल्ले में बेलनाकार अस्थि घूमती है।

प्रश्न 16. अचल संधि का स्थान क्या है?

उत्तर– ऊपरी जबड़े और कपाल के मध्य में एक अचल संधि है।

प्रश्न 17. अस्थि पिंजर का शब्द क्या है?

उत्तर: शरीर में अस्थि ढाँचे को अस्थि पिंजर कहते हैं।

प्रश्न 18. अस्थियाँ क्या करती हैं?

उत्तर: हमारे शरीर को सुंदर आकृति अस्थियाँ देती हैं।

प्रश्न 19 शरीर के विभिन्न अंगों में अस्थियों की संख्या और आकृति हमें कैसे मालूम होती है?

उत्तर: एक्स-रे चित्र से हम अस्थियों की आकृति और संख्या का पता लगा सकते हैं।

प्रश्न 20. प्रत्येक मध्यम अंगुली में कितनी अस्थियां हैं?

उत्तर:  चार अस्थियां हैं

प्रश्न 21. पसली क्या है?

उत्तर: वक्ष में पाई जाने वाली कठोर अस्थियां पसलियां कहलाती हैं।

प्रश्न 22. पसली पिंजर का क्या अर्थ है?

उत्तर: पसलियां मेरुदंड के भाग में जुड़कर एक बक्सा बनाती हैं, जिसे पसली पिंजर कहते हैं।

प्रश्न 23: पसली पिंजर का क्या उद्देश्य होता है?

उत्तर: शरीर के महत्वपूर्ण अंगों को पसली पिंजर से बचाया जाता है।

प्रश्न 24. हमारे पसली पिंजर में कौन-से अंग सुरक्षित हैं?

उत्तर: हृदय और फेफड़े पसली पिंजर में सुरक्षित हैं।

प्रश्न 25. मेरुदंड क्या करता है?

उत्तर: हमारे शरीर को सीधा खड़ा रहने में मेरुदंड की मदद मिलती है।

प्रश्न 26. क्या हम झुक सकते हैं अगर हमारा मेरुदंड सिर्फ एक अस्थि से बना होता?.

उत्तर: यदि हमारा मेरुदंड सिर्फ एक अस्थि से बना होता तो हम झुक नहीं सकते थे।

प्रश्न 27. कंधे की अस्थियाँ क्या हैं?

उत्तर: कंधे की अस्थियां हमारे कंधों के निकट दो उभरी हुई अस्थियाँ हैं।

प्रश्न 28. श्रोणि अस्थियों का क्या अर्थ है?

उत्तर: श्रोणि अस्थियां हमारे कूल्हे के हिस्से में हैं।

प्रश्न 29. क्या खोपड़ी करती है?

उत्तर: हमारे मस्तिष्क, जो हमारे बहुत महत्वपूर्ण अंग है, उसकी रक्षा खोपड़ी करती है।

प्रश्न 30. उपास्थि का क्या अर्थ है?

उत्तर: उपास्थि (Cartilage): यह अस्थि जैसा भाग है, लेकिन यह उससे नर्म और मुड़ जाता है। शरीर की संधियों में भी उपास्थि मिलती है।

प्रश्न 31. अस्थियों को गति देने में सहायता करने वाले कौन हैं?

उत्तर: अस्थियों को गति देने में पेशियां सहायक हैं।

प्रश्न 32. पेशी का अर्थ क्या है?

उत्तर: अंगों की गति को यह ऊतक मदद करता है।

प्रश्न 33 किसी अस्थि को गति देने के लिए कितनी पेशियां मिलकर काम करती हैं? ।

उत्तर. किसी अस्थि को गति देने के लिए दो प्रक्रियाएं काम करती हैं।

प्रश्न 34. चार जंतुओं के नाम लिखिए जिनमें अस्थियाँ नहीं मिलती हैं।

उत्तर. केंचुआ, घोंघा, तिलचट्टा और जोंक हैं।

प्रश्न 35. घोंघा की गति किसकी सहायता से होती है?

उत्तर. मोटी माँसल रचना घोंघा को गति देती है।

प्रश्न 36. तिलचट्टा की गति कैसे होती है?

उत्तर: तिलचट्टा को चलने में सहायता देने वाले तीन पैर होते हैं। यह पँखों की सहायता से भी आसमान में उड़ सकता है।

प्रश्न 37. पक्षियों को उड़ने की क्षमता का कारण क्या है?

उत्तर. पक्षियों का शरीर उड़ने के लिए तैयार होता है उसकी अस्थियां हल्की होती हैं क्योंकि उनमें वायु प्रकोष्ठ हैं।

प्रश्न 38. मछली का शारीरिक ढांचा क्या है?

उत्तर: मछली का शरीर धारा रेखित होता है, इसलिए वह आसानी से तैर सकती है।

प्रश्न 39. कंदुक-खल्लिका और धुराग्र संधि की गति में क्या अंतर है?
उत्तर- धुराग्र संधि में मात्र बेलनाकार गति संभव है, जबकि कंदुक-खल्लिका संधि में वृक्षाकार गति संभव है।

प्रश्न 40.अचल संधि और हिंज में क्या अंतर है?
उत्तर: जबकि अचल संधि (जैसे जबड़े और कपाल के बीच) में गति संभव ही नहीं है,  हिंज संधि में केवल आगे और पीछे एक ही दिशा में गति हो सकती है।

प्रश्न 41. कंकाल क्या है? इसका काम लिखें..।
उत्तर: हमारे शरीर की सभी अस्थियाँ एक ढाँचे बनाती हैं जिसे कंकाल कहते हैं, जो हमारे शरीर को सुंदर आकृति देता है। हमारे शरीर को आकार देता है और आंतरिक अंगों को बचाता है।

प्रश्न 42. चिकित्सक शरीर के किसी हिस्से में चोट लगने पर एक्स-रे क्यों करवाते हैं?
उत्तर: चिकित्सक शरीर के किसी हिस्से में चोट लगने पर एक्स-रे करवाते हैं ताकि उन्हें अस्थियों में होने वाली संभावित क्षति का पता लगाया जा सके क्योंकि एक्स-रे चित्र शरीर की अस्थियों की आकृति को दिखाते हैं।

प्रश्न 43. पसली-पिंजर का अर्थ क्या है? यह क्या करता है? .
उत्तर: पसली-पिंजर शरीर की अस्थियों और मेरुदंड से जुड़कर बने शंकुरूपी बक्से हैं। हमारे महत्वपूर्ण अंगों, जैसे फेफड़े और दिल, इसमें सुरक्षित रहते हैं।

प्रश्न 44.मेरुदंड का क्या अर्थ है?
उत्तर: मेरुदंड, हमारी पीठ के मध्य में छोटी-छोटी अस्थियों से बनी एक लंबी, कठोर संरचना है।

प्रश्न 45. क्या पेशियाँ मिलकर अस्थि को गति देती हैं? .
उत्तर:  हाँ, एक अस्थि को गति देने के लिए दो कार्यों को मिलकर काम करना होता है। अस्थि उस दिशा में खिंच जाती है जब दोनों पेशियों में से एक सिकुड़ती है। यूगल की दूसरी पेशी शिथिल हो जाती है। अब पहली पेशी शिथिल हो जाती है, और शिथिल पेशी अस्थि को विपरीत दिशा में खींचती है। पेशी सिर्फ खींच सकती है, धक्का नहीं दे सकती।

प्रश्न 46. किस प्रकार केंचुआ अपने शरीर के भाग को जमीन से टिकाता है? जमीन उपजाऊ कैसे होती है?
उत्तर: केंचुए के शरीर में बालों की तरह छोटे-छोटे शूक होते हैं। ये शूक पेशियों के साथ जुड़े हुए हैं। ये शूक को मिट्टी में मजबूत बनाते हैं। रास्ते में आने वाली मिट्टी को खाकर केंचुआ अनपचे पदार्थों को निकालता है। केंचुए ने यह काम किया जो मिट्टी को उपजाऊ बनाता है।

प्रश्न 47. घोंघे की संरचना और इसका उपयोग क्या है?
उत्तर: घोंघे की पीठ पर गोल कवच है। घोंघे का बाहरी कंकाल यह है। लेकिन अस्थि नहीं होती।घाँधे का कवच खिंचता जाता है, लेकिन चलने में मदद नहीं करता।

प्रश्न 48. क्या आप तिलचट्टे की संरचना के बारे में जानते हैं?
उत्तर: तिलचट्टे का शरीर बाह्य कंकाल से ढका हुआ है। विभिन्न एककों की परस्पर संधि इस बाह्य कंकाल को बनाती है। इसके वक्ष में दो पंख हैं। इसके पिछले पैर बहुत पतले और चौड़े हैं, जबकि अगले पैर छोटे हैं।

प्रश्न 49. तिलचट्टे का चलन क्या है?
उत्तर: तिलचट्टा जमीन पर चलता है, दीवार पर चढ़ता है और फिर वायु में उड़ता है। इसमें चलने में सहायता देने वाले तीन जोड़ी पैर हैं। तिलचट्टे में कुछ खास गुण हैं। इन्हें चलने में सहायता देने वाली पेशियाँ हैं। उड़ते समय वक्ष की पेशियाँ उनके पैरों को गति देती हैं। .

50. पक्षी उड़ने की क्षमता कैसे प्राप्त करते हैं?
उत्तर: पक्षियों का शरीर उड़ने के लिए बनाया गया है, इसलिए वे उड़ सकते हैं। उनकी अस्थियाँ मज़बूत और हल्की होती हैं क्योंकि उनमें वायु प्रकोष्ठ हैं। पश्च पाद (पैरों) की अस्थियाँ चलने और बैठने के लिए विशेष रूप से बनाई गई हैं। पक्षी के पंखों का निर्माण अग्रदूत की अस्थियों से होता है। कंधे की अस्थियाँ बहुत मजबूत हैं। वक्ष की अस्थियाँ पंखों को ऊपर-नीचे करने में सहायक होती हैं और उड़ने वाली पेशियों को जकड़े रखती हैं।

प्रश्न 51. मछली की आकृति उसके तैरने में कैसे मदद करती है?
उत्तर: धारा की रेखीय आकृति के कारण जल इधर-उधर बहता है, जिससे मछली जल में आसानी से तैर सकती है। तैरते समय इसके शरीर का अग्र भाग एक ओर मुड़ता है, जबकि पूँछ विपरीत दिशा में चली जाती है; जो एक झटका देता है और मछली आगे बढ़ती है। मछली इस तरह के क्रमिक ताल से आगे की ओर तैरती रहती है। पूँछ पंख उन्हें इस काम में सहायता देते हैं।

इस पोस्ट में आपको class 6 science chapter 8 solutions class 6th science chapter 8 question answer ncert class 6 science chapter 8 pdf class 6 science chapter 8 body movements question answer कक्षा 6 विज्ञान पाठ 8 के प्रश्न उत्तर शरीर में गति प्रश्न उत्तर कक्षा 6 Chapter 8 विज्ञान नोट्स से संबंधित पूरी जानकारी दी गई है. यदि आपको इसके बारे में कोई प्रश्न या सुझाव है, तो कृपया नीचे कमेंट करके हमसे संपर्क करें. इसके अलावा, अगर आपको यह जानकारी उपयोगी लगे तो इसे अपने दोस्तों से भी साझा करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button